सुस्वागतम्‍

आपका हार्दिक स्वागत है, आप
से पधारे हैं, आपको यह चिट्ठा कैसा लगा? अपनी बहूमूल्य राय से हमें जरूर अवगत करावें,धन्यवाद।

फॉरमेट करने से पहले अपने बुकमार्क्स बचायें

How to backup your Favorite bookmarked links before Reinstalling or Formatting Window?
How to backup your Favorite links? How to save my Favorite links?

आपका कम्प्यूटर वायरस के संक्रमण से बीमार है और आप उसे फॉरमेट/विन्डो रिइन्स्टॉल कर रहे हैं पर आप के फायरफॉक्स ब्राऊजर में आपने अब तक जमा किये ढ़ेरों पसंदीदा बुकमार्क्स के खो जाने से चिंतित हैं? क्यों कि फॉरमेट करने से वे सारे खो जायेंगे। इन्हें बचाने का तरीका है कि आप एक एक बुकमार्क को टेक्स्ट फाइल में कॉपी कर लें, लेकिन जब बुकमार्क्स बहुत से हों तो कॉपी करना कम झँझट वाला काम नहीं होगा, और जब आप सिस्टम से परेशान हो कर फॉरमेट करने जा रहे हैं तो यह काम करना आसान नहीं होता।

इस तरह की मुसीबत से बचने का सबसे आसान और सुगम उपाय है कि आप गूगल टूलबार इन्स्टाल करें और पसंदीदा बुकमार्क्स को गूगल के भरोसे पर छोड़ते जायें। यह तो बाद की बात है लेकिन अब क्या किया जाये? चलिये मैं आपको इसका सबसे आसान तरीका बताता हूँ।

  1. आप अपने फायरफॉक ब्राऊजर को खोले और सबसे ऊपर लिखे Bookmarks पर क्लिक करें अब आपको दिख रहा होगा Organize Bookmarks (इसकी शॉर्ट की है ctrl+shift+B) अब इस ओर्गेनाइज बुकमार्क्स पर क्लिक करें।
  2. अब आपको एक नई पॉपअप खिड़की मिलेगी, इसमें आपको लिखा हुआ दिख रहा है Import & Backup, बस इसी शब्द पर क्लिक करें। आपको नीचे लिखा हुआ दिख रहा है Export HTML अब इस पर क्लिक कर दें, HTML फाईल को कोई नाम देकर किसी दूसरे ड्राईव पर सेव कर दें (जैसे D:,E:,F:,G:) आप चाहें तो इस फाईल को खोल कर देख भी सकते हैं।
  3. बस आपका काम हो चुका है, बस आप आराम से सिस्टम को फॉरमेट कीजिये, जब सारा काम सही हो जाये तब फाफा को फिर से इन्स्टाल करें और बुक मार्क्स को Export की बजाय Import करें, पाथ उस ड्राइव का दें जहां आपने उस HTML फाईल को सेव किया था।
  4. बस आपके सारे पसंदीदा बुकमार्क्स ठीक पहले की तरह फायरफॉक्स बुकमार्क्स में मिल जायेंगे।
ध्यान दें:
अगर आप आई ई Internet Explorer प्रयोग करते हैं और पसंदीदा बुकमार्क्स Internet Explorer में है तब भी आप इस विधी से बुकमार्क्स को बचा सकते हैं। इसके लिए पहले आपको Export की जगह Import करना होगा। इसके लिये आपको इम्पोर्टपाथ इन्टरनेट एक्सप्लोरर का देना होगा।


यह विधी पढ़ने में शायद लम्बी लग रही हो पर जब आप इस विधी का प्रयोग करें तो दस सैकण्ड भी नहीं लगेंगे अपने पसंदीदा लिंक्स को बचाने में।

12 टिप्पणियाँ:

नरेश सिह राठौङ said...

बहुत दिनों बाद आपकी पोस्ट देख रहा हूँ | चलो देर से ही सही आपने यहाँ लिखने के लिए समय तो निकाला | मै भी इस समस्या से परेशान था कल ही इसका हल मिला सोचा इस विषय पर एक पोस्ट लिखूंगा लेकिन अब लिखने कि जरूरत ही नहीं रही | आपने मेरा काम आसान बना दिया | आशा है अब आप आगे से नियमित रूप से लिखेंगे |

संगीता पुरी said...

बहुत अच्‍छी जानकारी है .. मैं तो कई बार अपने बुकमार्क्‍स खो चुकी हूं !!

Dr Prabhat Tandon said...

बढिया सुझाव !! लेकिन अगर आप फ़ायरफ़ाक्स प्रयोग कर रहे हो तो x marks के add-ons को इन्सटाल कर लें । अपना account बनायें और बुकमार्क को सुरक्षित कर ले । अगर कम्पयूटर फ़ार्मेट भी करना पडे या कही दूसरे के कम्पयूटर पर बैठना भी पडॆ तो कोई झँझट नही , आनलाईन सब सुरक्षित मिल जायेगा । x marks के लिये http://www.xmarks.com/ पर जायें या फ़ायरफ़ाक्स के add-ons मे सर्च करें ।

राज भाटिय़ा said...

इस सुंदर जानकारी के लिये आप का धन्यवाद

ज्ञानदत्त पाण्डेय Gyandutt Pandey said...

मैं तो अपने बुकमार्क्स Xmarks addon के प्रयोग से ऑन लाइन रखता हूं। यह क्रोम पर भी सिंक्रोनाइज हो जाते हैं।

kshama said...

Badi upyukt jaankaaree..abhi hee aazmaatee hun!

Maria Mcclain said...

interesting blog, i will visit ur blog very often, hope u go for this website to increase visitor.Happy Blogging!!!

गिरीश बिल्लोरे said...

महत्व पूर्ण जानकारी
जन्म दिवस पर हार्दिक शुभ कामनाओं के साथ

गिरीश बिल्लोरे said...


विजयादशमी पर्व की हार्दिक शुभकामनाएं

आपकी पोस्ट ब्लॉग4वार्ता पर

Krishna Kumar Mishra said...

बहुत ही अत्यधिक मेहनत के साथ आप लोगों की तकनीकी सेवा कर रहे हैं।

Anonymous said...

accutane acne accutane side effects blood in stool - buy accutane pharmacy

Goverdhan Soni said...

thanks

 
template by : uniQue  |    modified by : सागर नाहर   |    Header Image by : Deepa